आज है होली..

 

 

आज है होली

मन चाहता है

करे सभी से हंसी ठिठोली |

 कोई रंग खरीद रहा है,

 कोई खरीद रहा गुलाल |

 कोई बजा रहा है बाजा,

 कोई पूछ रहा सवाल |

 कि, आज और कल की तैयारी में

 कौन-सा काम रह गया बाकी ?

 रंग लगेगा, पकवान बनेंगे

कहीं पर फाग गूंजेगा

 या दिखेगी कोई झांकी ?

इन प्रश्नों पर

क्या जरुरी है चिंतन करना ?

 या अपने जीवन के इस अनमोल क्षण में

 आवश्यक है आत्ममंथन करना !!!

 क्योँ मनाते हैं हम होली ?

 केवल हुडदंग मचाने को,

 डीजे की शोर में

 केवल फूहड़ नाचने-गाने को…

 शराब पीने को…भांग खाने को…

 जबरदस्ती रंग ज़माने को

 या फिर होली के नाम पर

 अभद्र व्यवहार का दाग लगाने को….?

  क्यों ?

ये प्रश्न पूछ रहा है

विश्व की सर्वश्रेष्ठ हिन्दू संस्कृति,

 भक्त प्रल्हाद की भक्ति

और राधा-कृष्ण की पवित्र स्मृति |

 क्या स्मरण है आपको…

 हिरण्यकश्यप का वह कुशासन |

 अहंकार से पूर्ण,  अधर्म का सिंहासन |

पांच वर्ष के अपने बेटे को

श्री हरि विष्णु के नाम जप करने पर

देता था जो दंड |

कभी खौलते तेल की कढाई में

 प्रल्हाद को वह देता डाल |

 कभी पहाड़ से फ़ेंक देता उसे

 कभी विषैले सर्पों की पहना देता माल |

 कभी तलवारों से करता वार

 तो कभी समुद्र में देता डाल |

 पर धन्य प्रल्हाद की भक्ति

पिता के इस भयंकर प्रताड़नाओं से

 तनिक न हुआ वह भयभीत |

खुद जपता “ॐ नमों भगवते वासुदेवाय …”

औरों को भी दी प्रभु भक्ति की सीख |

इस चक्कर में हिरण्यकश्यप की बहन

 होलिका भी जल गई |

 रक्षा की प्रभु ने प्रल्हाद की,

 और इससे दानवों में भी भक्ति जाग गई |

 छोटे बालक को बचाने

श्री हरि विष्णु नृसिंह बनकर आये |

 हिरण्यकश्यप को मार प्रभु ने

 प्रल्हाद को हरिरूप का दर्शन दिए कराये |

 क्या हम प्रल्हाद को आदर्श अपना मानते हैं ?

 या होली के इस महापर्व को

महज मौज मस्ती का त्यौहार जानते हैं ?

 ये हम पर निर्भर है

 हमें किस मार्ग पर चलना है…

 प्रल्हाद की भक्ति को स्मरण करना है…

या हुडदंगी बनकर अपनी संस्कृति को छलना है ?

                                                                                                                     – लखेश चंद्रवंशी

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s