वाह ! केजरीवाल जी, नए नामकरण पर आपको बधाई

Imageआम आदमी पार्टी (आआपा) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल अपनेआप को मर्यादा पुरुषोत्तम समझने लगे हैं, क्योंकि उन्होंने दिल्ली के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दिया था। सारी जनता उनको चुनावी वादा पूरा न कर सकनेवाले मुख्यमंत्री करार दे रही है। केजरीवाल ने अपने मुख्यमंत्री पद से पल्ला झाड़ कर पलायन किया है, इसलिए लोग उन्हें भगौड़ा के रूप में देख रहे हैं। पर केजरीवाल इस बात को मनाने के लिए तैयार नहीं हैं, उनका आरोप है कि ये सब भाजपा वालों की चाल है। यही वजह है कि 25 मार्च को वाराणसी में अपने रैली के दौरान उन्होंने भारतीय जनता पार्टी पर कटाक्ष करते हुए कह दिया कि भगवान राम को माता कैकेयी ने 14 साल का वनवास दे दिया। जनता उनके साथ थी। फिर भी वह वनवास पर गए। यदि बीजेपी वाले तब होते तो वो उन्हें भी भगोड़ा कह देते।

केजरीवाल अपने इस तर्क के माध्यम से खुद को ‘भगवान श्री राम की तरह’ त्यागी के रूप में प्रोजेक्ट कर रहे थे।

माता कैकयी ने श्री राम को वनवास का आदेश दिया था, पर केजरीवाल जी इस बात का तो जवाब दे दीजिए कि दिल्ली के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने का आदेश क्या आपको राहुल-माता ने दिया था?

हाल ही में भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के प्रत्याशी नरेंद्र मोदी ने जम्मू में भारत विजय अभियान का शंखनाद किया, और अरविंद केजरीवाल का नाम लिए बिना पाकिस्तान का एजेंट कहकर उनपर जोरदार हमला बोला। मोदी ने कहा, `पाकिस्तान को तीन AK बहुत लाभ पहुंचा रहे हैं। पहला AK-47 है, जिसकी मदद से हिन्दुस्तान की धरती को लहुलूहान करने काम पाकिस्तान करता रहा है।

दूसरा, AK-एंटनी हैं। सेना कहती है कि पाकिस्तानी जवानों ने हमारे सैनिकों के सर काटे, लेकिन एंटनी साहब कहते हैं कि सर काटने वाले पाकिस्तानी सेना की वर्दी में आए थे।`

मोदी ने कहा, `तीसरा AK हैं- `AK-49` इन्होंने अभी-अभी एक पार्टी को जन्म दिया जो मात्र 49 दिन चली। उनकी पार्टी की वेबसाइट पर जो नक्शा लगा था, उसमें उन्होंने कश्मीर जो भारत का अभिन्न अंग है, पाकिस्तान को दे दिया। AK-49 के एक साथी तो कहते हैं कि कश्मीर में जनमत संग्रह होना चाहिए। इस पर पाकिस्तान में लोग नाच रहे हैं।`

मोदी की इस तीखी आलोचना के बाद अरविन्द केजरीवाल को ‘भाषा’, ‘मर्यादा’, ‘शोभा’ और ‘पद’ की गरिमा का स्मरण हो गया। केजरीवाल ने इस बारे में ट्वीट किया, ‘क्या मोदी जी ने मुझे पाकिस्तान का एजेंट और एके-49 कहा है। क्या यह किसी पीएम पद के उम्मीदवार को शोभा देता है?’

लेकिन सवाल उठता है कि चुनावी सीजन में मोदी के हमले से बौखलाए केजरीवाल ने भाषा की मर्यादा का लिहाज खुद रखा है या नहीं? अगर केजरीवाल का रिकॉर्ड देखा जाए तो वे कई बार अपने संबोधनों में शालीनता का उल्लंघन किया है।

-7 मार्च, 2014 को गुजरात दौरे पर अरविंद केजरीवाल ने कहा था, ‘मोदी अंबानी, अडानी और टाटा जैसे कारोबारी घरानों के प्रॉपर्टी डीलर हैं।’

-वहीं जनवरी 2014 में रेल भवन के नजदीक धरने पर बैठने के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री सुशील कुमार शिंदे पर तीखा प्रहार करते हुए कहा था, ‘शिंदे कौन होता है मुझे यह बताने वाला कि मुझे कहां बैठना चाहिए और कहां नहीं। मैं दिल्ली का मुख्यमंत्री हूं और मेरे पास यह हक है न कि शिंदे के पास, कि मैं कहां बैठूं। इसकी जगह मैं यह तय कर सकता हूं कि शिंदे कहां ठहर सकते हैं।’

-फरवरी, 2012 में अरविंद केजरीवाल ने कहा था, ‘संसद में हत्यारे और बलात्कारी बैठे हैं।’

गृहमंत्री, राज्यपाल, संसद, संविधान जैसे पद और व्यवस्था को कोसने में शब्दों के तमाम मर्यादा को भूल जानेवाले आआपा नेता अरविन्द केजरीवाल को, नरेन्द्र मोदी ने एक ही चुनावी सभा में AK-49 कहकर उनको शालीनता का स्मरण करा दिया। बधाई हो मोदी जी!!!

और, केजरीवाल जी आप तो तरस ही रहे थे कि मोदी जी कुछ कहे आपको। लो, मोदी जी ने नया नाम दे दिया आपको- AK-49। केजरीवाल जी, नए नामकरण पर आपको भी बधाई!!!

– लखेश्वर चंद्रवंशी (नागपुर)

Advertisements

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s